The Tiger State News Portal

मध्य प्रदेश में हाल ही में हुए पटवारी भर्ती परीक्षा में घोटाले के आरोपों के पर एक जांच आयोग की शुरुआत हुई है। इस आयोग ने मध्यप्रदेश कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा आयोजित की गई 2022 की ग्रुप 2 सब ग्रुप 4 और पटवारी भर्ती परीक्षा में अनियमितताओं के सबूत मांगे हैं। इसके तहत, जिलों के शिकायतकर्ताओं से अलग-अलग दिनों पर सबूत जमा करने की अनुमति दी गई है।

मध्यप्रदेश कर्मचारी चयन बोर्ड द्वारा आयोजित की गई परीक्षाओं में गड़बड़ी के आरोपों के समाधान के लिए, राज्य सरकार ने एक जांच आयोग का गठन किया था। इस आयोग के अध्यक्ष हाईकोर्ट के रिटायर्ड जज राजेंद्र कुमार वर्मा हैं।

इस प्रक्रिया के तहत, सभी जिलों के शिकायतकर्ताओं को अलग-अलग दिनों पर सबूत प्रस्तुत करने का मौका दिया गया है।

उदाहरण स्वरूप,

राजधानी भोपाल के शिकायतकर्ताओं को 16 अगस्त को बुधवार को सुबह 10:30 से 1:30 बजे तक अपने सबूत जांच आयोग के अध्यक्ष को प्रस्तुत करने का अवसर होगा।

उसी तरह, 17 अगस्त को रायसेन, विदिशा और सीहोर जिलों के शिकायतकर्ताओं को भी इसी समय पर सबूत प्रस्तुत करने का मौका मिलेगा।

शिकायतकर्ताओं को अपने सबूत के साथ पहचानपत्र ले कर आना अनिवार्य है। इन दस्तावेजों को कलियासोत डैम के वाल्मी परिसर में स्थित जांच आयोग के कार्यालय, भोपाल में जमा करना होगा।

Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp